ज़ेलेंस्की ने रूस पर लगाया हारकिव में घातक ड्रोन हमले का आरोप

उक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर ज़ेलेंस्की ने रूस पर आरोप लगाया है कि उसने पूर्वी शहर हारकिव में एक घातक ड्रोन हमला किया, जिसमें तीन बच्चों सहित सात लोग मारे गये।

उक्रेन के दूसरे सबसे बड़े शहर हारकिव पर हमला शुक्रवार से शनिवार तक हुआ, जिसमें एक तेल भंडारण सुविधा को निशाना बनाया गया। रिसे ईंधन के कारण लगी आग की चपेट में आये लोगों में बच्चे और उनके माता-पिता भी शामिल थे।

पुलिस द्वारा जारी फ़ुटेज में पुलिस अधिकारियों को जलती हुई आवासीय इमारतों में प्रवेश करते और लोगों को बचाते देखा जा सकता है।

ज़ेलेंस्की ने शनिवार को अपने सोशल मीडिया संदेश में तीन बच्चों का नाम साझा कर मृतकों को याद किया।

उन्होंने कहा कि "रूसी आतंक" को दण्डित करना अनिवार्य है। उन्होंने माँग की कि रूस हर उस जान की ज़िम्मेदारी ले जो उसके कारण गयी है।

अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार संगठन ह्यूमन राइट्स वॉच ने बृहस्पतिवार को अपनी रिपोर्ट में कहा कि रूसी हमले में मारियुपोल में कम से कम 8,000 लोगों की मौत होने की आशंका है।

समूह ने प्रमुख कब्रिस्तानों की उपग्रह छवियों का विश्लेषण कर यह अनुमान लगाया है। उसका कहना है कि युद्ध के दौरान मरने वालों की कुल संख्या कभी पता नहीं चल सकेगी।

उक्रेन का कहना है कि रूस के आक्रमण में मारियुपोल की लगभग 4,00,000 की आबादी में से 20,000 से अधिक लोग मारे जा चुके हैं। हताहतों की संख्या की कोई ख़बर नहीं है क्योंकि शहर रूस के नियंत्रण में है।