यूएनआरडब्ल्यूए - गाज़ा में कर्मियों के ख़िलाफ़ आरोपों पर की त्वरित कार्रवाई

पश्चिम एशिया में फ़िलिस्तीनी शरणार्थियों के लिए संयुक्त राष्ट्र राहत एवं कार्य एजेंसी यानि यूएनआरडब्ल्यूए के प्रमुख का कहना है कि उनकी एजेंसी ने इज़्रायल के हालिया आरोपों पर त्वरित प्रतिक्रिया दी है। ग़ौरतलब है कि इज़्रायल ने आरोप लगाया था कि यूएनआरडब्ल्यूए के कुछ कर्मी 7 अक्तूबर को हमास द्वारा किये गए हमलों में शामिल थे।

महा-आयुक्त फ़िलिप लाज़ारीनी का कहना है कि एजेंसी इन आरोपों को गंभीरता से लेती है और उसने पहले ही 12 संदिग्ध अधिकारियों में से 10 को बर्खास्त कर दिया है। दो अन्य कर्मियों की मृत्यु हो चुकी है।

शनिवार को एनएचके के साथ एक ऑनलाइन साक्षात्कार में लाज़ारीनी ने कहा कि हालाँकि स्वतंत्र जाँच जारी है, पर एजेंसी ने त्वरित कार्रवाई करते हुए, जाँच के नतीजे जारी होने से पहले ही कर्मियों को बर्खास्त कर दिया है।

लाज़ारीनी ने कहा कि जापान सहित दस से अधिक देशों के यूएनआरडब्ल्यूए को आर्थिक सहायता रोकने के फ़ैसले से तत्काल आवश्यकताएँ पूरी करने की क्षमता पर असर पड़ सकता है, क्योंकि मार्च तक एजेंसी के पास धन समाप्त हो जाएगा।

उन्होंने उम्मीद जतायी कि जाँच के नतीजे जल्द सामने आ जाएँगे और दानकर्ता देश एजेंसी को दुबारा धन मुहैया कराना शुरू कर देंगे।