निक्केइ औसत सूचकांक ने छुआ 34 वर्षों का सर्वोच्च स्तर

तोक्यो शेयर बाज़ार के मानक सूचकांक, निक्केइ औसत ने शुक्रवार को लगातार दूसरे दिन 34 साल का नया सर्वोच्च स्तर छुआ। इससे पहले न्यूयॉर्क शेयर बाज़ार में डाओ जोन्स औद्योगिक औसत सूचकांक ने लगातार दो दिनों तक रिकॉर्ड ऊँचाई छुई थी।

225 शेयरों का निक्केइ औसत, बृहस्पतिवार की तुलना में 0.1 प्रतिशत चढ़कर 36,897 पर बंद हुआ। फ़रवरी 1990 के बाद पहली बार सूचकांक ने कुछ देर के लिए 37,000 का आँकड़ा पार किया। डॉलर के मुक़ाबले येन कमज़ोर होने के कारण अर्धचालकों जैसे निर्यात-संबंधी शेयरों ने बढ़त हासिल की।

विदेशी निवेशकों द्वारा जापानी शेयरों की ख़रीद के चलते निक्केइ सूचकांक वर्ष की शुरुआत से 10 प्रतिशत बढ़ चुका है।

विश्लेषकों का कहना है कि ऐसे निवेशक यह सोचकर ख़रीदारी कर रहे हैं कि जापान की अर्थव्यवस्था और कारोबार में नयी वृद्धि होगी। इसी सोच के साथ, चीनी निवेशक भी आगे आ रहे हैं। ग़ौरतलब है कि चीन की अर्थव्यवस्था धीमी पड़ रही है।