यूएस स्टील का अधिग्रहण रोकने का ट्रम्प का संकल्प निप्पॉन स्टील ने किया ख़ारिज

जापान की सबसे बड़ी इस्पात निर्माता कंपनी, निप्पॉन स्टील ने यूएस स्टील का अधिग्रहण रोकने की पूर्व अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के संकल्प को ख़ारिज करते हुए कहा है कि इस सौदे से दोनों देशों को फ़ायदा होगा।

निप्पॉन स्टील के कार्यकारी उपाध्यक्ष मोरि ताकाहिरो ने बुधवार को कहा कि 14 अरब डॉलर के इस सौदे को सितंबर तक पूरा करने के कार्यक्रम में कोई बदलाव नहीं हुआ है।

राष्ट्रपति पद के लिए रिपब्लिकन पार्टी की नामांकन दौड़ में सबसे आगे चल रहे ट्रम्प ने पिछले महीने कहा था कि अगर वे राष्ट्रपति बनते हैं तो वे यह सौदा "तुरंत रद्द कर देंगे।"

मोरि ने कहा कि यह स्पष्ट नहीं है कि ट्रम्प इस सौदे की "व्यापक समझ रखते हैं।" उन्होंने भरोसा जताया कि ट्रंप को जब एहसास होगा कि यह सौदा अमरीकी उद्योगों के लिए फ़ायदेमंद है तो उनका नज़रिया बदल जाएगा।

मोरि ने कहा कि नवंबर आते-आते अधिग्रहण एक राजनीतिक मुद्दा बन जाएगा। उन्होंने कहा कि निप्पॉन स्टील, यूनाइटेड स्टीलवर्कर्स यूनियन के साथ जल्द से जल्द आम सहमति बनाना चाहती है।

निप्पॉन स्टील ने दिसंबर में घोषणा की थी कि वह यूएस स्टील को पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी बनाने पर सहमत हो गयी है। इस अधिग्रहण के बाद, निप्पॉन स्टील, मात्रा के हिसाब से दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी इस्पात निर्माता कंपनी बन जाएगी।

अमरीकी स्टीलवर्कर्स यूनियन ने नियोजित अधिग्रहण की आलोचना की है। व्हाइट हाउस ने कहा है कि इस सौदे की राष्ट्रीय सुरक्षा के आधार पर "गंभीर जाँच" होनी चाहिए।