पाकिस्तान में बृहस्पतिवार को आम चुनाव

पाकिस्तान में राजनीतिक और आर्थिक उथल-पुथल के बीच मतदाताओं ने बृहस्पतिवार को आम चुनाव में मतदान किया।

संसद की 336 सीटों के लिए 5,000 से अधिक उम्मीदवार मैदान में खड़े हुए।

विपक्षी पार्टी, पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ़ के नेता और पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान यह चुनाव नहीं लड़ रहे क्योंकि उन्हें भ्रष्टाचार और देश के रहस्यों को लीक करने का दोषी पाया गया।

सत्तारूढ़ पार्टी, पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज़ के प्रमुख और पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ को शीर्ष पद के प्रमुख दावेदार के रूप में देखा जा रहा है। विशेषज्ञों का कहना है कि देश की राजनीति पर गहरी पकड़ रखने वाली सेना के साथ उनके अच्छे संबंध हैं। माना जा रहा है कि शरीफ़ दुबारा प्रधानमंत्री चुने जा सकते हैं।

इस बार के चुनाव में काफ़ी हिंसा हुई है। बुधवार को दक्षिण-पश्चिमी प्रांत बलूचिस्तान में दो उम्मीदवारों के कार्यालयों के पास दो विस्फोट हुए, जिसमें 24 लोगों की मौत हो गयी। माना जा रहा है कि इन धमाकों का मक़सद मतदान में बाधा डालना था।