ब्लिंकन ने गाज़ा में युद्ध विराम पर दिया ज़ोर

अमरीका के विदेश मंत्री ने पश्चिम एशिया की यात्रा के दौरान इज़्रायल और हमास के बीच युद्ध विराम सुनिश्चित करने पर ज़ोर दिया। दोनों पक्षों के बीच संघर्ष शुरू होने के चार महीने पश्चात गाज़ा में मृतकों की संख्या 27,500 से अधिक हो गयी है।

क़तर, मिस्र और अमरीका की मध्यस्थता वाले नवीनतम समझौते में बंधकों के बदले में लड़ाई को विराम देने का प्रस्ताव रखा गया है। अमरीका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने मंगलवार को क़तर के प्रधानमंत्री के साथ बैठक में कहा कि वह इज़्रायल पर प्रस्ताव मानने के लिए दबाव बनायेंगे।

ब्लिंकन ने कहा कि “यह प्रस्ताव इज़्रायल के साथ साझा किया जा चुका है और कल इज़्रायल यात्रा के दौरान इस पर चर्चा की जाएगी और इस समझौते को मनवाने के लिए हम पुरजोर प्रयास करेंगे।”

क़तर के प्रधानमंत्री और विदेश मंत्री शेख मोहम्मद बिन अब्दुलरहमान अल-थानी ने कहा कि “ हमें प्राप्त इस प्रस्ताव में सभी का ध्यान रखा गया है, यह अधिक आशावान है और उम्मीद है इसका परिणाम अच्छा रहेगा।”

उन्होंने कहा कि प्रस्ताव के प्रति हमास का रुख भी “काफ़ी सकारात्मक” है। उन्होंने इससे अधिक जानकारी नहीं दी है।

इस बीच, इज़्रायल ने हमास पर हमला जारी रखने का प्रण लिया है। उसकी सेना ने दक्षिणी शहर रफ़ाह की ओर आगे बढ़ने की धमकी दी है जहाँ दस लाख से अधिक फ़िलिस्तिनियों ने शरण ली है।

इज़्रायल सेना के प्रवक्ता ने कहा कि हमास द्वारा बंधक बनाये गए लोगों में से 31 की मृत्यु की पुष्टि हुई है। न्यूयॉर्क टाइम्स ने कहा कि इज़्रायल के खुफ़िया अधिकारी 20 अन्य बंधकों की मृत्यु की सूचना की पुष्टि करने में जुटे हैं।