सर्वेक्षण - उ.कोरिया से भागे लोगों को नापसंद देश की वंशवादी नेतृत्व व्यवस्था

दक्षिण कोरियाई सरकार का कहना है कि हाल के वर्षों में उत्तर कोरिया से जान बचा कर दक्षिण कोरिया आये लोगों ने अपने देश की वंशवादी सत्ता हस्तांतरण व्यवस्था पर नकारात्मक विचार व्यक्त किये हैं।

एकीकरण मंत्रालय ने 2020 तक उत्तर कोरिया से भाग कर आये 6,351 लोगों के सर्वेक्षण पर मंगलवार को एक रिपोर्ट जारी की। सर्वेक्षण में उनसे उत्तर कोरिया की राजनीतिक, सामाजिक और आर्थिक स्थिति के बारे में पूछा गया।

परिणाम में पाया गया कि 2020 तक पाँच वर्षों में ऐसे 54.9 प्रतिशत उत्तर कोरियाई लोगों का अपने पूर्व देश की वंशवादी नेतृत्व व्यवस्था के बारे में नकारात्मक दृष्टिकोण था।

रिपोर्ट में कहा गया है कि 2011 में अपने पिता की मृत्यु उपरांत किम जोंग उन को सत्ता विरासत में मिलने से इस तरह की आलोचना बढ़ गयी है।

सर्वेक्षण से पता चला कि 2016 या उसके बाद उत्तर कोरिया से जान बचा कर आये लोगों में से 83.3 प्रतिशत ने कहा कि उन्होंने चीन और दक्षिण कोरिया द्वारा निर्मित नाटक और अन्य वीडियो देखे थे, जिससे पता चलता है कि मीडिया पर प्योंगयांग के कड़े नियंत्रण के बावजूद कई लोग अपने देश के बाहर के मामलों में रुचि रखते हैं।

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि उत्तर कोरिया में व्यक्तिगत कारोबारी गतिविधियाँ बढ़ रही हैं क्योंकि देश की खाद्य राशन व्यवस्था तबाह होने के कगार पर है। कुछ लोगों ने बताया कि उन्होंने निजी तौर पर मकान ख़रीदे या बेचे हैं, जो उत्तर कोरिया में प्रतिबंधित है।