जनरेटिव एआई के विकास को वित्तपोषित करेगी जापान सरकार

जापान सरकार, जनरेटिव एआई सॉफ़्टवेयर के स्थानीय विकास का समर्थन करने हेतु अलग से धनराशि आवंटित कर रही है।

इस क्षेत्र में प्रतिस्पर्धा तेज़ हो रही है और सरकार का कहना है कि वह अमरीका में चैटजीपीटी जैसे प्रतिद्वंद्वियों से बराबरी करने के लिए देश में प्रौद्योगिकी को आगे बढ़ाना चाहती है।

जापान के उद्योग मंत्री साइतो केन ने कहा, "जापान सरकार एआई विकास क्षमता में तेज़ी लाएगी ताकि देश में भविष्य में नवाचार जारी रहे।"

विशेष रूप से, उद्योग मंत्रालय देश के सात संगठनों में एआई के विकास को वित्तपोषित करने हेतु 8.4 अरब येन यानि 5 करोड़ 60 लाख डॉलर से अधिक प्रदान करेगा। इनमें स्टार्ट-अप कंपनियाँ और एक विश्वविद्यालय शामिल हैं।

मंत्रालय का कहना है कि इन संस्थाओं को अमरीकी प्रौद्योगिकी दिग्गज, गूगल की क्लाउड सेवाएँ 6 महीने तक निःशुल्क प्रदान की जाएँगी।

उन्हें लार्ज लैंग्वेज मॉडल के रूप में प्रचलित जनरेटिव एआई प्रौद्योगिकी के निर्माण में आवश्यक बिग डाटा के इस्तेमाल हेतु मंत्रालय धन प्रदान करेगा। ये मॉडल जापानी भाषा के लिए भी कार्य करेंगे।

इस तकनीक का उपयोग वाहनों को पूरी तरह से स्वचालित बनाने समेत कई औद्योगिक क्षेत्रों में किया जा सकता है।