रूसी सैनिकों की जल्द वापसी को लेकर मॉस्को में रैली

रूसी सैनिकों की पत्नियों ने अपने पतियों की उक्रेन के युद्धक्षेत्र से शीघ्र वापसी की माँग करते हुए मॉस्को में एक रैली आयोजित की है।

सितंबर 2022 के अंत में रूस द्वारा उक्रेन में अतिरिक्त बलों की तैनाती के 500 दिन पूरे होने पर शनिवार को मध्यवर्ती मॉस्को में क्रेमलिन के बाहर, सैनिकों की पत्नियों समेत दर्जनों लोग एकत्र हुए।

प्रतिभागियों ने अज्ञात सैनिकों की समाधि पर फूल चढ़ाये। यह स्मारक द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान मारे गए सोवियत सैनिकों के सम्मान में स्थापित किया गया था।

रूस में एक मानवाधिकार समूह ने बताया कि 20 से अधिक लोगों को सुरक्षा अधिकारियों ने अस्थायी रूप से हिरासत में ले लिया था। इन लोगों में अधिकतर रूसी और विदेशी पत्रकार शामिल थे, जो रैली पर रिपोर्टिंग कर रहे थे।

प्रतीत होता है कि राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का प्रशासन मार्च में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव से पहले किसी भी युद्ध-विरोधी आंदोलन को फैलने से रोकना चाहता है।

इस बीच, उक्रेनी थल सेना ने घोषणा की कि कमांडर ओलेक्सांद्र सिर्स्की ने पूर्वी क्षेत्र हारकिव में कुपियांस्क मोर्चे पर लड़ रहे उक्रेनी सैन्य छावनियों का दौरा किया है।

सेना ने कहा कि कुपियांस्क के सभी क्षेत्रों में भीषण लड़ाई जारी है। उसने बताया कि सुरक्षा में आने वाली अड़चनों को हटाने के लिए सैनिकों और कर्मियों की दुबारा तैनाती कर दी गयी है।