जापान के चंद्र यान ने किया निद्रावस्था में प्रवेश

जापान की अंतरिक्ष एजेंसी का कहना है कि उसका चंद्र यान निद्रावस्था में चला गया है क्योंकि जिस क्षेत्र में अंतरिक्ष यान उतरा था वहाँ चंद्र रात्रि शुरू हो गयी है।

जापान अंतरिक्ष अन्वेषण एजेंसी यानि जाक्सा के अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को सोशल मीडिया पोस्ट में बताया कि चंद्र यान को चंद्रमा की मुश्किल रातों के लिए डिज़ाइन नहीं किया गया है, और वे फ़रवरी मध्य में सूर्योदय के बाद यान के साथ संपर्क बहाल करेंगे। ऐसा माना जाता है कि रात में चंद्रमा की सतह पर तापमान शून्य से 170 डिग्री सेल्सियस नीचे तक चला जाता है।

स्मार्ट लैंडर फ़ॉर इन्वेस्टिगेटिंग मून यानि स्लिम 20 जनवरी को चंद्रमा पर उतरा था, जिसके साथ ही जापान यह उपलब्धि हासिल करने वाला पाँचवाँ देश बन गया।

संपर्क बहाली के बाद स्लिम के विशेष कैमरे ने चाँद की उत्पत्ति के बारे में अधिक जानने के उद्देश्य से उसकी चट्टानों में मौजूद खनिजों के प्रकार का अवलोकन किया।

जाक्सा के अधिकारियों ने कहा है कि वे 10 चट्टानों का अवलोकन करने में सफल रहे, जिन्हें उन्होंने "आकिता इनु" और "डॉलमेशियन" जैसे कुत्तों के नाम दिये हैं। उन्होंने कहा कि वे डाटा का विश्लेषण कर रहे हैं।