म्यांमार में तख़्तापलट की तीसरी बरसी पर 'मूक हड़ताल'

म्यांमार में 2021 के सैन्य तख़्तापलट के बाद से सेना को सत्ता संभाले तीन साल पूरे होने पर लोग "मूक हड़ताल" कर रहे हैं।

म्यांमार के लोकतंत्र समर्थक समूह, सेना के प्रति अवज्ञा प्रदर्शित करते हुए लोगों से घर में रहने का आग्रह कर रहे हैं।

बृहस्पतिवार सुबह 10 बजे हड़ताल शुरू होने के कारण सबसे बड़े शहर यांगोन में सड़कें काफ़ी हद तक खाली थीं। सड़कों पर कुछ ही पैदल यात्री और वाहन मौजूद थे, जो सेना के खिलाफ़ जनता का कड़ा विरोध दर्शाता है। यह हड़ताल सेना द्वारा आपातकाल को अगले 6 महीने के लिए बढ़ाये जाने के एक दिन बाद की जा रही है।

सेना ने 2020 के आम चुनावों में धांधली का हवाला देते हुए 1 फ़रवरी, 2021 को तख़्तापलट किया था, जिसके बाद 3 साल से देश में आपातकाल लागू है।

सेना ने भारी बहुमत से जीत हासिल करने वाली पार्टी की नेता आंग सान सू ची को अपदस्थ करते हुए उन्हें हिरासत में ले लिया था। सेना नागरिक प्रदर्शनकारियों पर कार्रवाई करती आ रही है।