रिपोर्ट - जापान में 2020 से लगभग 340 महिलाओं को मिला डिंब दान

एनएचके को ज्ञात हुआ है कि जापान में वर्ष 2020 से कम से कम 340 महिलाओं को कृत्रिम गर्भाधान के लिए डिंब दान मिला है।

जापान में डिंब दान पर प्रतिबंध नहीं है, लेकिन इससे संबंधित नियम अब तक पूरी तरह स्पष्ट नहीं हैं। इसके चलते माना जाता था कि बीमारियों या अन्य कारणों से बांझपन से पीड़ित महिलाओं को छोड़कर जापान में यह उपचार प्रचलित नहीं है।

उपचार के माध्यम से बच्चा पैदा करने के इच्छुक लोगों को आमतौर पर विदेश जाना पड़ता है।

एनएचके ने जापान में महिलाओं के लिए डिंब दान की व्यवस्था करने वाले एजेंटों से पूछा कि क्या उन्होंने देश के अंदर भी इलाज में मध्यस्थता की है। सात एजेंटों ने 'हाँ' में उत्तर दिया।

कई एजेंटों ने कहा कि कोरोनावायरस महामारी के कारण विदेश यात्रा करना मुश्किल होने के बाद उन्होंने जापान में डिंब दान की व्यवस्था करना शुरू कर दिया।

संबंधित नियमों के अभाव के कारण, सुरक्षा सुनिश्चित करने और डिंब दान के माध्यम से पैदा बच्चे को उसकी जैविक माँ को जानने के अधिकार की गारंटी देने जैसे मुद्दों पर ध्यान देने की आवश्यकता है।

केइओ विश्वविद्यालय के मानद प्रोफ़ैसर और प्रजनन चिकित्सा विशेषज्ञ, योशिमुरा यासुनोरि का कहना है कि उपचार प्राप्त करने वाले लोगों में से कई, अपने अनुभव के बारे में बात करने से हिचकिचाते हैं या बच्चे को इस तथ्य के बारे में बताने में असहज महसूस करते हैं। उन्होंने कहा कि इससे संबंधित नियमों या दिशानिर्देशों को जल्द लागू किया जाना चाहिए।