जॉर्डन में ड्रोन हमले में 3 अमरीकी सैनिकों की मौत

जॉर्डन में अमरीकी सैन्य अड्डे पर ड्रोन हमले में तीन अमरीकी सैनिकों की मृत्यु हो गयी है। ग़ौरतलब है कि पश्चिम एशिया में अमरीकी सेना पर हुए हालिया ड्रोन और रॉकेट हमलों से व्यापक क्षेत्र में संघर्ष फैलने की चिंता बढ़ गयी है।

अमरीकी केंद्रीय कमान ने रविवार को कहा कि सीरिया की सीमा के पास पूर्वोत्तरी जॉर्डन में एक अमरीकी सैन्य अड्डे पर ड्रोन हमले में उसके तीन सैनिक मारे गये और कम से कम 34 घायल हो गये।

कमान का कहना है कि यह हमला, "टॉवर 22" नामक जॉर्डन की सैन्य सुविधा के अंदर हुआ, जो लगभग 350 अमरीकी सैन्य कर्मियों को संभारतंत्र सुविधा उपलब्ध कराती है।

जॉर्डन की सरकारी मीडिया का कहना है कि इस हमले में जॉर्डन का कोई सैनिक हताहत नहीं हुआ है।

अमरीकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने एक वक्तव्य में कहा कि हमले से संबंधित सुरागों को तलाशा जा रहा है। लेकिन वॉशिंगटन का दावा है कि इसे "सीरिया और इराक़ में सक्रिय ईरान समर्थित कट्टरपंथी आतंकी गुटों" द्वारा अंजाम दिया गया है।

बाइडन ने कहा कि अमरीका, आतंकवाद से लड़ने की शहीद सैनिकों की प्रतिबद्धता को आगे बढ़ायेगा। उन्होंने संकल्प लिया कि अमरीका हमले के लिए ज़िम्मेदार सभी लोगों पर अपने चुने हुए "समय और तरीक़े" से कार्रवाई करेगा।