मीडिया – उक्रेन के लिए नयी रणनीति बना रहा है बाइडन प्रशासन

वॉशिंगटन पोस्ट ने ख़बर दी है कि बाइडन प्रशासन उक्रेन की मदद करने के लिए ऐसी रणनीति बना रहा है, जिसमें रूस को और आगे बढ़ने से रोकने और उक्रेन की युद्ध क्षमता तथा अर्थव्यवस्था को लंबे समय तक मज़बूती देने पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा।

इस अमरीकी अख़बार ने शुक्रवार को प्रकाशित एक लेख में वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों का हवाला दिया।

वॉशिंगटन पोस्ट के अनुसार नयी रणनीति में हारे जा चुके क्षेत्रों को वापस जीतने पर ज़ोर देने की बजाय “उक्रेन की युद्ध क्षमता और अर्थव्यवस्था को मज़बूत करने के दीर्घावधि लक्ष्य की दिशा में अग्रसर होते हुए रूस को आगे बढ़ने से रोकने” पर ध्यान दिया जाएगा।

समाचार पत्र के अनुसार उक्रेन में पिछले साल के जवाबी हमलों के निराशाजनक नतीजे सामने आने के बाद यह फ़ैसला लिया गया है।

अख़बार में अमरीकी अधिकारियों के हवाले से कहा गया है कि नयी रणनीति का लक्ष्य “रूसी हमलों को रोकने में सक्षम उक्रेन के भावी सैन्य बल को गठित करना” और “उक्रेन के औद्योगिक तथा निर्यात केन्द्र की रक्षा, पुनर्गठन और विस्तार करना होगा।”

पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की सत्ता में संभावित वापसी के मद्देनज़र एक अधिकारी ने कथित तौर पर आशा व्यक्त की कि नयी रणनीति से उक्रेन को भविष्य में भी सहायता मिलती रहेगी।

ट्रम्प, उक्रेन को दी जा रही सहायता राशि को लेकर शिक़ायत करते आये हैं। उन्होंने अमरीकी योगदान को अत्यंत भारी बोझ बताया है।

इस बीच, उक्रेनी अधिकारियों का कहना है कि रूसी रक्षा मंत्रालय ने उन्हें 65 उक्रेनी युद्धबंदियों के नामों की सूची दी है, जो बुधवार को दुर्घटनाग्रस्त हुए रूसी सैन्य विमान में सवार थे। रूस ने उक्रेन पर विमान को मार गिराने का आरोप लगाया है।

लेकिन स्थानीय मीडिया केन्द्रों के अनुसार उक्रेनी सेना के ख़ुफ़िया विभाग प्रमुख किरिलो बुदानोफ़ ने कहा कि “फ़िलहाल हमारे पास इस बात के सबूत नहीं हैं कि विमान में इतने लोग सवार थे।” उन्होंने कथित तौर पर बताया कि इस घटना के संबंध में उक्रेन हर उपलब्ध जानकारी का सावधानीपूर्वक विश्लेषण कर रहा है।