ट्रक चालकों की ओवरटाइम सीमा के जवाब में कंपनियों ने उठाये क़दम

जापान में ट्रक, बस और टैक्सी चालकों के लिए ओवरटाइम काम की सीमा सोमवार से प्रभावी हो गयी। सैद्धांतिक रूप से परिवहन उद्योग में ओवरटाइम की अधिकतम सीमा प्रति माह 45 घंटे और प्रतिवर्ष 360 घंटे तय की गयी है।

एक निजी विचार मंच का अनुमान है कि यदि उपाय नहीं अपनाये गए, तो 2030 तक इस ओवरटाइम सीमा से परिवहन क्षमता में लगभग 35 प्रतिशत की कमी आ सकती है।

ट्रक चालकों के काम का बोझ कम करने के उद्देश्य से उठाया गया यह क़दम अब व्यवसायों को माल ढुलाई में दक्षता बढ़ाने के लिए प्रेरित कर रहा है।

कंवीनियंस स्टोर शृंखला लॉसन, दिसंबर से अपनी कुछ दुकानों पर डिब्बा-बंद भोजन की डिलीवरी को दिन में 3 से घटाकर 2 बार कर रही है।

वहीं, फ़ैमिलीमार्ट फ़रवरी से तोक्यो के निकट कानागावा प्रीफ़ैक्चर स्थित अपनी कुछ दुकानों पर माल पहुँचाने के लिए कोका-कोला बॉटलर्स जापान के प्रचालन तंत्र का उपयोग कर रही है।

दैनिक आवश्यकता का सामान बनाने वाली प्रमुख कंपनी यूनिचार्म ने अपने वयस्क डायपर के पैकेज का आकार लगभग 10 प्रतिशत छोटा करने के लिए एक विशेष तकनीक विकसित की है। अधिकारियों के अनुसार इससे 10-टन क्षमता वाले डिलीवरी ट्रकों की संख्या में प्रतिवर्ष लगभग 1,000 वाहनों की कटौती होगी।